Home Containt

नगर निगम द्वारा संचालित देश की सबसे बड़ी गौ शाला-

एतिहासिक ग्वालियर शहर गायों की भूमि पर बसा है। जो ग्वाला ऋिषी की तपोभूमि भी है। जिस पर देश की पहली नगर निगम द्वारा संचालित सबसे बड़ी गौ शाला का संचालन किया जा रहा है। क्योंकि प्रदेश  में कोई दूसरी नगर निगम को इस प्रकार का प्रकल्प संचालित करने का गौरव हासिल नहीं हैं। यहां करीब 6000 गौ वंश वाला खिड़क लाल टिपारा गौशाला अब जन सहयोग और श्री कृष्णायन देशी गौ रक्षा शाला के संतो के प्रबंधन से गौ धाम बन चुका है। जो देश की अन्य नगर निगमों के लिए आर्दश मॉडल है। जो भविष्य में मानव जाति की कई प्रकार की जरूरतों को पूरा कर घातक रोगों से बचाएगी। यहां कई प्रकार के नवाचार गौ शाला को आत्मनिर्भर बनाने के लिए शुरू किए गए हैं। गौ शाला को इस तरह विकसित किया जा रहा है कि लोगों को पीतांबरा पीठ और वृदांवन का अनुभव इसी गौ धाम में हो सके।

करीब १३ वर्ष पुरानी गौ शाला में निचले प्रबंधन के ठीस से काम नहीं करने से गौ वंश की मृत्युदर में इजाफा हो रहा था। जिस पर कई बार धरने प्रदर्शन हुए यह बात किसी से छुपी नहीं हें। बहरहाल इसके लिए शहर की ओर से कुछ पत्रकारों ने पहल की और इसमें जन सहयोग जोडऩे का अभियान शुरू हुआ। इसके लिए वॉट्सएप पर गौ सेवा का गु्रप बनाया गया। जिमसें पत्रकार, कर्मचारी, अफसर, वकील, डॉक्टर्स, समाज सेवी, व्यापारी एवं राजनीति से जुड़े लोग शामिल हुए करीब ४०० से अधिक लोगों ने जन्मदिन, विवाह आदि शुभ कार्य पर बीमार गौ वंश को गौ भोग लगाने के लिए डेट्स बुक करा रखी हें। जो तय डेट पर गौ शाला पहुंचकर गायोंं को गुड, चोकर, सब्जियां और फलों से गौ सेवा का कार्य करते हैं। इसके प्रचार प्रसार के लिए फेशबुक पेज गौ सेवा ग्वालियर को बनाया गया है जिसमें गौ शाला की गतिविधियों से लोगों को जोडऩे का काम जारी है।

[fts_youtube vid_count=4 large_vid=yes large_vid_title=yes large_vid_description=yes thumbs_play_in_iframe=yes vids_in_row=4 omit_first_thumbnail=no space_between_videos=1px force_columns=no maxres_thumbnail_images=yes thumbs_wrap_color=#000 channel_id=UC2PiEzcZzS25t1AvxZiRktA]

[WD_FB id=”1″]

0%
0%
0%
0%
0%

सहयोग करें

99
कुल गायों
99
सांड
99
दूध वाली गाय
99
अन्य गाय

प्रस्तावित योजनाएं

Kolton Miller Authentic Jersey